कृषि समाचार

Compensation: आदमपुर के किसानों की बड़ी जीत, हरियाणा सरकार ने जारी की 58 करोड़ रुपए मुआवजा राशि

Sima Agarwal
22 Sep 2022 4:49 PM GMT
Compensation: आदमपुर के किसानों की बड़ी जीत, हरियाणा सरकार ने जारी की 58 करोड़ रुपए मुआवजा राशि
x

आदमपुर | कपास की खराब हुई फसल के मुआवजे के लिए लंबे अरसे से संघर्ष कर रहे किसानों की मेहनत रंग लाई है. बता दें कि हरियाणा सरकार ने हिसार ज़िले की आदमपुर व बालसमंद तहसील में साल 2020 की गिरदावरी की मुआवजा राशि देने का ऐलान किया है. इन क्षेत्रों के किसान लंबे समय से मुआवजा राशि देने की मांग कर रहे थे और इसको लेकर धरना प्रदर्शन का लगातार लंबा दौर भी चला था.

हरियाणा की मनोहर सरकार ने किसानों की इस मांग को पूरा करते हुए 2 साल पहले कीटों के हमलें से खराब हुई खरीफ फसल के लिए 58 करोड़ रुपए से अधिक की मुआवजा राशि देने की घोषणा कर दी है और इसके लिए फंड को भी जारी कर दिया गया है. सरकार की ओर से जारी मुआवजा राशि को किसानों के बैंक खातों में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) के माध्यम से भेजा जाएगा.

प्रदेश सरकार द्वारा जारी आदेश के अनुसार, जिन किसानों की 50 प्रतिशत या इससे ज्यादा फसल खराब हुई थी उनको मुआवजे का लाभ दिया जाएगा. कपास की फसल के लिए प्रति एकड़ 7 हजार रुपए और बाकी फसलों के लिए 5500 रुपए प्रति एकड़ का मुआवजा दिया जाएगा. इसके तहत बालसमंद तहसील के किसानों के लिए 29 करोड़ 6 लाख रुपए तो वहीं आदमपुर क्षेत्र के किसानों के लिए 29 करोड़ 27 लाख रुपए की मुआवजा राशि जारी की गई है.

बता दें कि दो साल पहले आदमपुर व बालसमंद तहसील के क्षेत्र में कीटों के प्रभाव से खरीफ की फसलों में भारी नुक़सान पहुंचा था, जिसके लिए किसान प्रदेश सरकार से मुआवजा राशि देने की मांग को लेकर लंबे समय से धरना प्रदर्शन कर रहे थे.

किसान मुआवजा राशि की मांग को लेकर डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा व उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को भी ज्ञापन दे चुके थे. किसानों का कहना है कि लंबे संघर्ष के बाद आखिरकार उनको जीत हासिल हुई है और सरकार को मुआवजा राशि जारी करने पर विवश होना पड़ा है.

Sima Agarwal

Sima Agarwal

    Next Story