Movie prime

7th Pay commission: कर्मचारियों की होगी बल्ले-बल्ले, पेंशन वृद्धि से होगा लाभ

 
7th Pay Commission, Dearness Allowance, Dearness Allowance hike, fitment factor hike, 7th CPC, 7th Pay Commission latest update, New Year, New Year 2023, Budget 2023

नई दिल्ली: कर्मचारी पेंशन योजना की बात करें तो कैंपेनिंग को लगातार मांग हो रही है। अब इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट की तरफ से सुनवाई शुरु हो गई है। मौजूदा ढांचे में ईपीएस में पेंशन को लकेर अधिकतम 15000 रुपये प्रतिमाह वाली सीमा तय किया गया है। ! केंद्र सरकार के कर्मचारियों को लेकर अधिक जानकारी साझा की गई है। ही उन्हें पुरानी पेंशन का फायदा हो सकता है।

जब कर्मचारी पेंशन योजना का सदस्य बनने की बात करें तो तो वह भी ईपीएस का सदस्य बनने के साथ फायदा मिल जाता है।कर्मचारी के मूल वेतन का 12% योगदान पीएफ में जाने के साथ फायदा मिल जाता है। यह हिस्सा कर्मचारी के अलावा नियोक्ता के खाते को लेकर भी जाना शुरु हो जाता है।

लेकिन, नियोक्ता के योगदान का एक हिस्सा ईपीएस यानी कर्मचारी पेंशन योजना में जमा करना होता है। ईपीएस में मूल वेतन का योगदान 8.33% तक पहुंच गया है। हालांकि, पेंशन ( Pension ) योग्य वेतन की अधिकतम सीमा 15,000 रुपये हो चुकी है। तो हर महीने अधिकतम 1250 रुपये पेंशन फंड को लेकर जमा करने के बाद फायदा मिल सकता है।

मौजूदा नियमों की बात करें तो अगर किसी कर्मचारी की बेसिक सैलरी 15,000 रुपये या इससे ज्यादा है तो पेंशन फंड के तौर पर जमा होने जा रही है। अगर मूल वेतन 10 हजार रुपये पहुंच गई है तो अंशदान सिर्फ 833 रुपये होने जा रहा है। कर्मचारी की सेवानिवृत्ति पर पेंशन की गणना की बात करें तो अधिकतम वेतन 15 हजार रुपये तक पहुंच जाता है। ऐसे में कर्मचारी पेंशन योजना नियम की बात करें तो सेवानिवृति होने के बाद 7500 रुपये का फायदा हो जाता है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की बात करें तोके सेवानिवृत्त प्रवर्तन कार्यालय भानु प्रताप शर्मा द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक यदि पेंशन से 15,000 रुपये वाली सीमा खत्म हो जाती है। तो आप 7,500 रुपये से ज्यादा होने जा रहा है। लेकिन, इसके लिए कर्मचारी पेंशन योजना की बात करें त में नियोक्ता के अंशदान को भी बढ़ाने को लेकर जरुरत हो जाएगी।

कर्मचारी पेंशन योजना के तहत ये जानकारी चेक करें

जब से कर्मचारी भविष्य निधि संगठन वाले सभी पात्र को लेकर देखा जाए तो पात्र सदस्य पेंशन निकालना शुरू हो जाता है। उस समय से वे अपनी उम्र के अनुसार पेंशन का फायदा लिया जा सकता है। पेंशन की राशि हर मामले में अलग-अलग माना जाता है

एक सदस्य 58 वर्ष की बात करें तो सेवानिवृत्त होने के बाद पेंशन लाभ को लेकर पात्रा माना जा रहा है। हालांकि, पेंशन ( Pension ) का लाभ लेना है तो उसे 10 साल तक काम करने की जरुरत होती है। पेंशन योजना प्रमाण पत्र जारी करना अहम होता है ! जिसका उपयोग मासिक पेंशन प्राप्त करने को लेकर जमा करने की बात करें तो फॉर्म 10डी को भरकर फायदा ले सकते हैं।