Movie prime

हरियाणा के इस शहर में बनाया जाएगा देश का सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, लाखो मरीजों को होगा फायदा

 
fatehabad-general,Faridabad News, Esi Superspeciality Hospital, Health Esi Cardholders Relief, Esi Cardholders, Country As Second Esi Superspeciality ,Haryana news   hindi news, Jagran news

फरीदाबाद:- हरियाणा राज्य का फरीदाबाद जिला औद्योगिक नगरी के नाम से पूरे देश में प्रसिद्ध है। लेकिन साथ ही फरीदाबाद में अब देश का दूसरा ईएसआईसी (कर्मचारी राज्य बीमा निगम) सुपर स्पेशलिस्ट अस्पताल बनने जा रहा है। डॉ. असीम दास की ओर से ईएसआईसी सुपर स्पेशलिस्ट अस्पताल स्थापित करने का प्रस्ताव ईएसआई निगम मुख्यालय भेजा गया है और अस्पताल सूत्रों के अनुसार इसे सैद्धांतिक मंजूरी मिल गई है.

देश का दूसरा ईएसआईसी सुपर स्पेशलिस्ट अस्पताल

फरीदाबाद के दूसरे ईएसआईसी सुपर स्पेशलिस्ट अस्पताल से गंभीर मामलों में मरीजों को रेफर करने के झंझट से मुक्ति मिलेगी।देश में 3.5 करोड़ ईएसआईसी कार्डधारक हैं। एक कार्ड धारक के परिवार सहित औसतन 3 से 4 लोग जुड़े होते हैं। ESIC मुख्यालय, दिल्ली के रिकॉर्ड के अनुसार, लगभग 135 मिलियन लोगों का ESIC साइटों पर इलाज किया जाता है। वर्तमान में जब किसी कार्डधारी मरीज को सुपर स्पेशलिस्ट सेवाओं की जरूरत होती है तो कई सेवाएं मेडिकल कॉलेजों और अस्पतालों में पहले से ही मुहैया कराई जाती हैं। हालांकि, ऐसे मामलों में जहां सेवाएं उपलब्ध नहीं हैं, मरीज को ESIC के पैनल के निजी अस्पतालों में रेफर करना होगा।

अस्पताल को मिली सैद्धांतिक मंजूरी

वर्तमान में देश का पहला ईएसआई सुपर स्पेशलिस्ट अस्पताल हैदराबाद में है। लेकिन अब फरीदाबाद में देश का दूसरा ईएसआई सुपर स्पेशलिस्ट अस्पताल बनने से दिल्ली एनसीआर समेत अन्य राज्यों के कार्डधारकों को फायदा होगा। सूत्रों ने बताया है कि ईएसआई अस्पताल को सैद्धांतिक मंजूरी मिल गई है।

निर्माण 5 एकड़ जमीन पर होगा

निगम के पास वर्तमान में ईएसआई मेडिकल कॉलेज परिसर में करीब 5 एकड़ जमीन है। जहां सुपर स्पेशलिस्ट अस्पताल बनाया जा सके। जहां तक ​​इस संस्थान के लिए जरूरी विशेषज्ञ उपकरणों और स्टाफ की बात है तो आपको बता दूं कि मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में पहले से ही कई सेवाएं मौजूद हैं। गौरतलब है कि 30 दिसंबर 2022 को केंद्रीय श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव की उपस्थिति में ईएसआई मेडिकल कॉलेज, अस्पताल कोलकाता में आयोजित बैठक में कार्डधारियों को बेहतर सेवाएं देने के मुद्दे पर गंभीरता से चर्चा हुई थी.

ईएसआई में दी जाने वाली सेवाओं का विस्तार किया जाएगा

फरीदाबाद में ईएसआई अस्पताल पहले से ही कई सेवाएं दे रहा है जो सुपर स्पेशियलिटी श्रेणी के अंतर्गत आती हैं। नेफ्रोलॉजी, ऑन्कोलॉजी और कार्डियोलॉजी के विभाग पहले से ही हैं। डायलिसिस की सुविधा भी है। हालांकि किडनी ट्रांसप्लांट की सुविधा अभी शुरू नहीं हुई है। यहां किडनी ट्रांसप्लांट, ओपन हार्ट सर्जरी और कॉर्निया ट्रांसप्लांट के साथ ही आंखों का बैंक भी स्थापित किया जाएगा।

रेडियोथेरेपी भी उपलब्ध होगी

अभी तक देश के किसी भी ईएसआईसी अस्पताल में रेडियोथेरेपी मशीन नहीं है। यहां कैंसर विभाग है। लेकिन अब ईएसआई निगम ने फरीदाबाद, चेन्नई और हैदराबाद के ईएसआई मेडिकल कॉलेजों में रेडियोथेरेपी मशीनों के प्रावधान को मंजूरी दे दी है।

भारत में कार्ड धारकों की संख्या

देश में ईएसआईसी कार्ड धारकों की संख्या करीब साढ़े तीन करोड़ है। ईएसआई कार्ड से जुड़े व्यक्तियों की कुल संख्या 13.5 करोड़ है

  •   हरियाणा कार्ड धारकों की संख्या :- 25 लाख, कार्ड से जुड़े व्यक्ति :- 1 करोड़
  •   दिल्ली एनसीआर में कार्डधारकों की संख्या:- 60 लाख, कार्ड से जुड़े लोग:- 2.40 करोड़
  •   फरीदाबाद से गुरुग्राम कार्ड धारकों की संख्या:- 20 लाख, कार्ड से जुड़े लोगों की संख्या:- 80 लाख