शहर और राज्य

मछली पालकों को हरियाणा सरकार का तोहफा, एडवांस मिलेगी सब्सिडी, सिरसा में भी स्थापित होगी टेस्टिंग लैब

Satbir Singh
20 Sep 2022 11:30 AM GMT
मछली पालकों को हरियाणा सरकार का तोहफा, एडवांस मिलेगी सब्सिडी, सिरसा में भी स्थापित होगी टेस्टिंग लैब
x
हाल ही में सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि मत्स्य पालन करने वालों को हरियाणा सरकार द्वारा ही एडवांस में सब्सिडी दी जाने वाली है। ऐसे में मछली पालको को भी लाभ मिलने वाला है। कहा जा रहा है कि हरियाणा सरकार की ये पहल प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना को सफल बना सकती है।

हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेश और प्रदेशवासियों के विकास के लिए अथक प्रयास किए जा रहे हैं और कई बड़े एलान भी किए जा रहे हैं। किसानो के लिए भी हरियाणा सरकार द्वारा कई बड़ी घोषणा की जा रही है। वहीं अब हरियाणा सरकार द्वारा मछ्ली पालकों को भी बड़ा तोहफा दिया गया है। मत्स्य पालन करने वालों को अब सब्सिडी के लिए केंद्र सरकार की सब्सिडी का इंतज़ार नहीं करना होगा।

हाल ही में सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि मत्स्य पालन करने वालों को हरियाणा सरकार द्वारा ही एडवांस में सब्सिडी दी जाने वाली है। ऐसे में मछली पालको को भी लाभ मिलने वाला है। कहा जा रहा है कि हरियाणा सरकार की ये पहल प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना को सफल बना सकती है।

सिरसा में भी स्थापित होगी टेस्टिंग लैब

रिपोर्ट्स के अनुसार सीएम मनोहर लाल ने सिरसा में ही मछली पालन से संबन्धित टेस्टिंग लैब को भी स्थापित करने की घोषणा की है। सिरसा में अब तक कोई टेस्टिंग लैब नहीं है और यहाँ के मछली पालकों को टेस्टिंग के लिए रोहतक जाना पड़ता है जो काफी दूर भी पड़ता है। लेकिन नई टेस्टिंग लैब स्थापित होने से सिरसा के लोगों को भी काफी आसानी हो जाएगी। इसका सीधा फायदा मछ्ली पालकों को ही मिलने वाला है।

वहीं अब हरियाणा के भिवानी में ही एक्वापार्क भी बनाया जाने वाला है। भिवानी के गरवा गाँव में ही इस पार्क को बनाया जाएगा। 25 एकड़ जमीन पर इस एक्वापार्क का निर्माण 30 करोड़ की लागत से किया जाने वाला है। इस पार्क में मछ्ली पालन से जुड़ी नई किस्म, बीज आदि पर शोध किया जाएगा। साथ ही साथ गुरुग्राम या फिर झज्जर में से किसी एक ज़िले में थोक मछ्ली मार्केट स्थापित करने की घोषणा भी की गई है।

सोलर प्लांट पर भी दी जाएगी सब्सिडी

मछली पालक अपने प्लांट पर सोलर प्लांट भी लगवा सकते हैं। इसके लिए प्रति हॉर्स पावर 20 हज़ार रूपये की सब्सिडी भी दी जा रही है जो अधिकतम 2 लाख रूपये ही हो सकती है। हालांकि इस समय जिन मछली पालकों की खपत 20 किलोवाट है उन्हें सरकार द्वारा 4.75 प्रति यूनिट की दर पर बिजली दी जा रही है।

Satbir Singh

Satbir Singh

    Next Story