राशिफल

30 साल बाद 4 राशियों में एकसाथ बने राजयोग, जानें किन लोगों की खुली किस्मत

Editor
30 Jun 2022 10:46 AM GMT
30 साल बाद 4 राशियों में एकसाथ बने राजयोग, जानें किन लोगों की खुली किस्मत
x
शुक्र और बुध ग्रहों की युति कई राशियों के लिए शुभ मानी जा रही है. वहीं, 30 साल बाद शनि अपनी मूल त्रिकोण राशि में विराजमान हुए हैं. ग्रहों की ऐसी स्थिति चार राशि वालों की कुंडली में शश और मालव्य नाम के दो महापुरुष राजयोग बना रही है. आइए जानते हैं ये लकी राशियों कौन सी हैं और इन्हें क्या लाभ मिलने वाला है.
 

शुक्र और बुध ग्रह इस वक्त वृषभ राशि में बैठे हुए हैं. शुक्र और बुध में मित्रता का भाव रहता है, इसलिए दोनों ग्रहों की युति कई राशियों के लिए शुभ मानी जा रही है. वहीं, 30 साल बाद शनि अपनी मूल त्रिकोण राशि में विराजमान हुए हैं. ग्रहों की ऐसी स्थिति चार राशि वालों की कुंडली में शश और मालव्य नाम के दो महापुरुष राजयोग बना रही है. आइए जानते हैं ये लकी राशियों कौन सी हैं और इन्हें क्या लाभ मिलने वाला है.

वृषभ- ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, वृष राशि वालों के लग्न भाव में बना राजयोग करियर की दिशा बदल सकता है. नौकरी में प्रमोशन का योग है. लंबे समय से नौकरी की तलाश में भटक रहे लोगों को खुशखबरी मिल सकती है. मान-सम्मान में वृद्धि होगी. व्यापारिक की दृष्टि से भी यह योग अच्छा साबित होगा.

सिंह- बुध और शुक्र की युति से सिंह राशि में भी शश और मालव्य नाम के दो राजयोग बने हैं. इस राशि के जातकों को अचानक धन लाभ हो सकता है. विदेश जाने का सपना पूरा हो सकता है. पार्टनरशिप में बिजनेस शुरू करने के लिए समय बहुत अच्छा है. प्रॉपर्टी में निवेश से लाभ होगा. जमीन-जायदाद से जुड़े मामले पक्ष में रहेंगे.

वृश्चिक- वृश्चिक राशि वालों को नौकरी में तरक्की मिल सकती है. नई नौकरी का ऑफर भी मिल सकता है. जिन लोगों की आर्थिक स्थिति लंबे समय से डगमगा रही थी, उन्हें राहत मिलने वाली है. नया काम शुरू करने या नया वाहन खरीदने के लिए समय बहुत ही शुभ है.

कुंभ- कुंभ राशि में भी शश और मालव्य राजयोग का निर्माण हो रहा है. आपके सुख-संसाधनों में वृद्धि होगी. घर-मकान से जुड़े कार्य संपन्न होंगे. मांगलिक कार्यों को पूरा करने के लिए अच्छा समय है. आय के नए स्रोत पैदा हो सकते हैं. राजयोग बने रहने तक आपको भाग्य का पूरा साथ मिलेगा

Editor

Editor

GazetteToday को 2017 तक लॉन्च किया गया था। डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से समाचार पेश करते हुए, GazetteToday ने अपने शुरुआती लॉन्च के तुरंत बाद महीनों में खुद का नाम बनाया।

    Next Story