देश

सिद्धू मूसेवाला की हत्या करने वाले गैंगस्टर की हुई पहचान? जाने कौन है कातिल

Editor
29 May 2022 3:27 PM GMT
सिद्धू मूसेवाला की हत्या करने वाले गैंगस्टर की हुई पहचान? जाने कौन है कातिल
x
सिद्धू मूसेवाला की हत्या करने वाले गैंगस्टर की हुई पहचान? जाने कौन है कातिल

पंजाबी सिंगर सिद्धू सिंह मूसेवाला की हत्या को लेकर चौंकाने वाली जानकारी सामने आ रही हैं. सूत्रों की मानें तो कनाडा बेस्ड गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने सिद्धू मूसेवाला की मौत की जिम्मेदारी ली है. मूसेवाला की जिस तरह से हत्या की गई है,

उससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि हमलावरों ने टारगेट करके वारदात को अंजाम दिया है. मीडिया को यह भी सूचना मिली है कि मूसेवाला पंजाब के टॉप मोस्ट गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई के टारगेट पर थे.

मूसेवाला के बारे में बिश्नोई गैंग पूरी जानकारी जुटा रही थी. बता दें कि रविवार को मूसेवाला पर पंजाब के मनसा जिले के जवाहरके गांव के पास फायरिंग हुई थी. हमलावरों ने उनकी थार जीप पर 12 राउंड फायरिंग की. घटना में मूसेवाला की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि दो साथी जख्मी हो गए हैं.

सूत्रों के मुताबिक, सिद्धू मोसेवाला पंजाब के टॉप मोस्ट गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई और उसके गैंग के निशाने पर थे. मीडिया ने मल्टीपल एजेंसी के सूत्रों से बातचीत की, जिसमें ये जानकारी सामने आई है.

इतना ही नहीं, सूत्रों ने ये भी बताया है कि सिद्धू मूसेवाला लारेंस बिश्नोई गैंग के विरोधी कैंप को सपोर्ट कर रहे थे. यह बात बिश्नोई गैंग को खटक रही थी. इसी वजह से लारेंस बिश्नोई गैंग के निशाने पर सिद्धू चल रहे थे. हत्याकांड के बाद पंजाब पुलिस इस एंगल पर भी जांच कर सकती है.

एक दिन पहले हटाई गई थी सुरक्षा

पंजाब की भगवंत मान सरकार ने मूसेवाला की सुरक्षा वापस एक दिन पहले ही वापस ली थी और ये घटना हो गई. इसके बाद से राजनीतिक हमले भी शुरू हो गए हैं. पुलिस उपाधीक्षक (मानसा) गोबिंदर सिंह ने बताया कि 27 वर्षीय मूसेवाला को कई गोलियां लगीं. हमले के समय वह एक गांव में अपनी जीप में थे.

मानसा के सिविल सर्जन डॉक्टर रंजीत राय ने बताया है कि सिविल अस्पताल लाए जाने से पहले ही मूसेवाला की मौत हो चुकी थी. मूसेवाला ने हाल में हुए विधानसभा चुनाव में मानसा सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था और आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार डॉक्टर विजय सिंगला से हार गए थे.

Editor

Editor

GazetteToday को 2017 तक लॉन्च किया गया था। डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से समाचार पेश करते हुए, GazetteToday ने अपने शुरुआती लॉन्च के तुरंत बाद महीनों में खुद का नाम बनाया।

    Next Story