देश

हरियाणा में जल्द लागू होगी व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी, जानें आपकी पुरानी कार कब हो जाएगी कबाड़?

Editor
25 Jun 2022 12:44 PM GMT
हरियाणा में जल्द लागू होगी व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी, जानें आपकी पुरानी कार कब हो जाएगी कबाड़?
x
हरियाणा में जल्द लागू होगी व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी, जानें आपकी पुरानी कार कब हो जाएगी कबाड़?

चंडीगढ़ :- हरियाणा (Haryana) में अब जल्द ही व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी (Vehicle Scrap Policy) लागू हो जाएगी. इसको लेकर चंडीगढ़ में गुरुवार को व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी पर समीक्षा बैठक भी हुई थी. हरियाणा के मुख्य सचिव संजीव कौशल ने पॉलिसी को शुरू किए जाने को लेकर विभिन्न पक्षों पर बातचीत भी की हैं . हरियाणा में इस पॉलिसी को लेकर परिवहन विभाग की ओर से प्रारूप भी तैयार किया जा चुका है और आने वाले दस दिनों में संबंधित विभाग अपनी रिपोर्ट दर्ज करके सौंप देंगे. इसलिए जल्द ही यह पॉलिसी हरियाणा में लागू हो सकती है.

व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी से व्यापार को बढ़ावा

संजीव कौशल का कहना था कि व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी के आने से हरियाणा में व्यापार के क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा. इसलिए इस पॉलिसी को जल्द ही अंतिम रूप भी दिया जाएगा और इसे लागू करने के लिए व्यवस्थाएं भी की जाएंगी. समीक्षा बैठक में जानकारी दी गई के अनुसार इस पॉलिसी का मुख्य उद्देश्य प्रदूषण फैलाने और खराब गुणवत्ता वाले वाहनों को चरणबद्ध तरीके से इस्तेमाल से हटाने की व्यवस्था तैयार करना है. बता दें कि केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी द्वारा नूंह जिले के फतेहपुर गांव में नई पंजीकृत वाहन स्क्रैपिंग सुविधा का उद्घाटन किया गया था.

व्हीकल फिटनेस टेस्ट (Vehicle Fitness Test) अनिवार्य

इस समीक्षा बैठक में यह भी जानकारी सांझा की गई कि रजिस्ट्रेशन अवधि खत्म होने के बाद व्हीकल फिटनेस टेस्ट (Vehicle Fitness Test) होगा. वाणिज्यिक वाहनों को 10 वर्षों के बाद अनिवार्य परीक्षण की आवश्यकता होती है, जबकि यात्री वाहनों के लिए इसे 15 वर्ष निश्चित किया गया है.

अगर फिटनेस टेस्ट में गाड़ी फेल हो जाती है, तो समझिए अब आपकी गाड़ी कबाड़ हो चुकी है. फतेहपुर गांव में स्थित प्लांट देश का पहला ऐसा प्लांट है जो आधुनिक तकनीक का उपयोग कर वाहनों से अधिकतम संख्या में कम्पोनेंट्स (Components) को बनाने और नई तकनीक के साथ रीयूज (Reuse) के लिए तैयार भी करता है.

कॉपर, स्टील, एलमुनियम, रबर और प्लास्टिक आसानी से उपलब्ध

गौरतलब है कि केंद्र सरकार की इस व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी से प्रदूषण में काफी मात्रा में कमी आएगी. साथ ही ऑटोमोबाइल (Automobile) क्षेत्र में कम लागत के साथ उत्पादन की क्षमता भी अधिकतम होगी.

इसके अलावा इस नीति से सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि कॉपर, स्टील, एल्युमिनियम, रबर और प्लास्टिक आसानी से उपलब्ध हो जाएगा. वहीं, 2024 के अंत तक इस पॉलिसी से बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे व प्रदूषण की मात्रा में भी कमी आएगी.

Editor

Editor

GazetteToday को 2017 तक लॉन्च किया गया था। डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से समाचार पेश करते हुए, GazetteToday ने अपने शुरुआती लॉन्च के तुरंत बाद महीनों में खुद का नाम बनाया।

    Next Story