देश

NDTV भी हुआ पराया, गौतम अडानी ने खरीदा, ट्व‍िटर पर मच गया घमासान

Sonal Agarwal
23 Aug 2022 4:22 PM GMT
NDTV भी हुआ पराया, गौतम अडानी ने खरीदा, ट्व‍िटर पर मच गया घमासान
x
NDTV Deal: इसके साथ ही भारत के सबसे बड़े कारोबारी ग्रुप अडानी इंटरप्राइजेज लि. ने मीडिया जगत में भी सेंध लगा दी है।

प्रणय और राध‍िका रॉय की बड़ी ह‍िस्‍सेदारी वाले टीवी चैनल को अडानी ग्रुप खरीदने जा रहा है। गौतम अडानी की अगुआई वाले अडानी समूह की मीड‍िया कंपनी ने 23 अगस्‍त को न्‍यू डेल्‍ही टेलीव‍िजन ल‍िम‍िटेड (एनडीटीवी) की 29.18 फीसदी ह‍िस्‍सेदारी खरीदने का ऐलान क‍िया। यह ह‍िस्‍सेदारी अभी अप्रत्‍यक्ष रूप से खरीदी गई है। अडानी समूह की कंपनी ने उस कंपनी से यह ह‍िस्‍सेदारी ली है ज‍िसके पास एनडीटीवी के शेयर थे। अब अडानी समूह सीधे तौर पर एनडीटीवी में 26 फीसदी ह‍िस्‍सेदारी भी खरीदेगा। इसके बाद कंपनी में 55 फीसदी से ज्‍यादा ह‍िस्‍सेदारी गौतम अडानी की कंपनी की हो जाएगी।

अडानी समूह ने प्रेस र‍िलीज जारी कर बताया क‍ि उसने 114 करोड़ रुपए में व‍िश्‍वप्रधान कमर्श‍ियल प्राइवेट ल‍िमिटेड (वीसीपीएल) को खरीद ल‍िया है। इसी कंपनी के पास एनडीटीवी की शेयरहोल्‍डि‍ंग कंपनी आरआरपीआर की ह‍िस्‍सेदारी थी, ज‍िसे उसने अडानी ग्रुप की मीड‍िया कंपनी अडानी मीड‍िया नेटवर्क ल‍िमिटेड के हवाले कर द‍िया। इसके साथ ही भारत के सबसे बड़े कारोबारी ग्रुप अडानी इंटरप्राइजेज लि. ने मीडिया जगत में भी सेंध लगा दी है। NDTV मौजूदा समय में तीन न्यूज चैनलों के साथ डिजीटल मीडिया का सशक्त प्लेटफार्म भी चला रहा है।

हालांकि पावर से पोर्ट कारोबार में सक्रिय अडानी ने मीडिया इंडस्ट्री में एंट्री पहले ही कर ली थी। ग्रुप ने मीडिया वेंचर क्विंटिलियन बिजनेस मीडिया प्राइवेट लिमिटेड (क्यूबीएम) में हिस्सेदारी खरीदी थी। उसके बाद ऐसी खबरें आई थी कि अडानी समूह ने एनडीटीवी में हिस्सेदारी खरीदने के लिए बातचीत की है। हालांकि, इस खबर का अडानी समूह और एनडीटीवी, दोनों ने ही खंडन कर दिया था। लेकिन आज इस पर मुहर लग ही गई।

यह खबर सार्वजन‍िक होते ही ट्व‍िटर पर खलबली मच गई। एनडीटीवी टॉप ट्रें‍ड‍िंंग टॉप‍िक में सबसे ऊपर आ गया। लोग तरह-तरह के कमेंट्स, मीम्‍स आद‍ि शेयर करने लगे। सोशल मीडिया पर इस खबर के फैलने के बाद कुछ लोगों ने NDTV पर तंज कसे तो कुछ ने अडानी को ईस्ट इंडिया कंपनी तक करार दिया। मोदी सरकार से लोग खफा थे तो रवीश कुमार की बेचारगी को लेकर भी उन्होंने रिएक्शन दिए। एक यूजर ने NDTV पर तंज कस कहा कि जो देश बेचने के आरोप लगाते थे, वो खुद अडानी को बिक गए।

प्रियांशु ने लिखा कि मीडिया में NDTV को निष्पक्ष खबरों के लिए जाना जाता रहा है। क्या ये निष्पक्षता बनी रहेगी ये देखना होगा? एक ने लिखा कि आखिर मोदी जी ने NDTV को अडानी को बेच दिया? एक ने लिखा कि रवीश कुमार जल्द ही यूटयूब चैनल पर नजर आएंगे। एक यूजर ने सरकार पर तंज कस कहा कि डेमोक्रेसी का एक भी पिलर छूटा तो तानाशाही का चक्र टूटा।

Sonal Agarwal

Sonal Agarwal

    Next Story