राजनीति

Raghav Chadha: राघव चड्ढा को ही क्यों मिला 'Mission Gujarat', कैसे BJP के गढ़ में खेल बिगाड़ेगी AAP?

Satbir Singh
18 Sep 2022 12:25 PM GMT
Raghav Chadha: राघव चड्ढा को ही क्यों मिला Mission Gujarat, कैसे BJP के गढ़ में खेल बिगाड़ेगी AAP?
x
Gujarat Assembly Election: पंजाब की सफलता के बाद आम आदमी पार्टी ने एक बार फिर राघव चड्ढा पर पूरा भरोसा जताया है. AAP ने राघव चड्ढा को गुजरात चुनाव का सह-प्रभारी नियुक्त किया है.

Gujarat Assembly Election 2022: पंजाब में आम आदमी पार्टी की प्रचंड चुनावी जीत सुनिश्चित करने वाले युवा नेता और सांसद राघव चड्ढा अब गुजरात में भाजपा का खेल बिगाड़ेंगे. AAP ने राघव चड्ढा को आगामी गुजरात विधानसभा चुनावों के लिए सह-प्रभारी नियुक्त किया है. पंजाब में AAP की जीत में राघव चड्ढा की मेहनत रंग लाई थी. राज्य में AAP ने 117 में से 92 सीटें जीतकर 79 प्रतिशत बहुमत हासिल किया था. यही एक मात्र कारण है कि राघव चड्ढा को गुजरात चुनाव के लिए AAP ने अहम जिम्मेदारी सौंपी है.

राघव चड्ढा को गुजरात में बड़ी जिम्मेदारी

राघव चड्ढा ने दिल्ली और पंजाब दोनों जगह बड़ी जिम्मेदारियां निभाई हैं. पार्टी उन्हें युवाओं के बीच एक बहुत लोकप्रिय चेहरे के रूप में भी देखती है, जिसे वह बेहतर शिक्षा, नौकरी और व्यापार के अवसरों के साथ बेहतर भविष्य के वादों के साथ पेश कर रही है. गुजरात में जीत AAP के लिए अपनी राष्ट्रीय आकांक्षाओं को साकार करने के लिए महत्वपूर्ण है. पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल और दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने राज्य के कई दौरे किए हैं.

ऐसे भाजपा को घेर रही AAP

भाजपा और यहां तक ​​कि खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'रेवड़ी' (मुफ्त उपहार) संस्कृति के तीखे हमलों का सामना करते हुए, पार्टी ने गुजरात में सत्ता में आने पर सभी के लिए रोजगार, मुफ्त बिजली और पानी, और स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्रों में सुधार का वादा किया है. AAP ने ग्राम प्रधानों के लिए निश्चित वेतन की भी घोषणा की है. केजरीवाल AAP को भाजपा के मुख्य प्रतिद्वंद्वी के रूप में पेश करते रहे हैं.

कांग्रेस को नीचा दिखाने की कोशिश

हाल ही में गुजरात दौरे पर अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि ऐसे लोग हैं जो राज्य में भाजपा का शासन नहीं चाहते हैं, और कांग्रेस को वोट देना पसंद नहीं करते हैं. हमें उनका वोट प्राप्त करना है क्योंकि हम राज्य में भाजपा की जगह एकमात्र विकल्प हैं. कांग्रेस की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा था कि कांग्रेस शायद भाजपा के लिए सबसे सुविधाजनक विपक्ष है. बता दें कि कांग्रेस ने 2017 के गुजरात विधानसभा चुनाव में राज्य की 182 सीटों में से 77 पर जीत हासिल करते हुए भाजपा को कड़ी चुनौती दी थी. भाजपा ने 99 सीटों पर जीत हासिल कर गुजरात में सरकार बनाई थी.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

Satbir Singh

Satbir Singh

    Next Story