राजनीति

Haryana Panchayat Election 2022: पंचायत चुनाव के लिए अनुसूचित जाति और पिछड़ा वर्ग आरक्षित सीटें फाइनल, ये है लिस्ट

Satbir Singh
22 Sep 2022 8:59 AM GMT
Haryana Panchayat Election 2022: पंचायत चुनाव के लिए अनुसूचित जाति और पिछड़ा वर्ग आरक्षित सीटें फाइनल, ये है लिस्ट
x
विकास एवं पंचायत विभाग द्वारा सभी 22 जिला परिषदों में कुल 36 वार्ड पिछड़ा वर्ग-ए तथा 92 वार्ड अनुसूचित जाति वर्ग के लिए आरक्षित किए गए हैं।

हरियाणा में पंचायती राज संस्थाओं में महिलाओं, पिछड़ा वर्ग-ए और अनुसूचित जाति वर्ग के लिए सीटें आरक्षित करने का काम पूरा हो गया है। विकास एवं पंचायत विभाग द्वारा सभी 22 जिला परिषदों में कुल 36 वार्ड पिछड़ा वर्ग-ए तथा 92 वार्ड अनुसूचित जाति वर्ग के लिए आरक्षित किए गए हैं।

पिछड़ा वर्ग-ए के लिए हिसार, करनाल और सिरसा की जिला परिषदों में सर्वाधिक तीन-तीन वार्ड आरक्षित किए गए हैं, जबकि गुरुग्राम में पिछड़ा वर्ग के लिए कोई वार्ड आरक्षित नहीं है। गौरतलब है कि राज्य चुनाव आयोग ने चुनाव कराने के लिए 30 नवंबर तक का समय मांगा है।

प्रदेश में पंचायती राज संस्थाओं के लिए कुल 71 हजार 763 पदों पर चुनाव होना है। इनमें 6226 पद सरपंच, 62 हजार 40 पंच, 143 पंचायत समितियों के 3086 सदस्य और 22 जिला परिषदों के 411 सदस्य शामिल हैं। पंचायत चुनाव में करीब 22 हजार पोलिंग बूथ बनेंगे। करीब सवा करोड़ मतदाता हैं। चुनाव करवाने को लेकर चुनाव आयोग ने 77 हजार ईवीएम का प्रबंध किया गया है।

इसलिए फिर से निकाले गए ड्रा

हरियाणा सरकार की ओर से अभी इसी एक सितंबर को कैबीनेट की मीटिंग में पिछड़ा वर्ग आयोग की रिपोर्ट को स्वीकृति दी गई थी। इसके बाद इसे दो सितंबर को राज्यपाल ने मंजूर कर लिया था। हरियाणा में पहली बार सरपंचों के लिए आठ प्रतिशत सीटें पिछड़ा वर्ग-ए के लिए आरक्षित की गई हैं।

इसी तरह प्रत्येक ग्राम पंचायत में पंच के पदों को पिछड़ा वर्ग(ए) के लिए कुल सीटों के उसी अनुपात में आरक्षित किया गया है जो ग्रामसभा क्षेत्र की कुल आबादी में पिछड़ा वर्ग (क) की आबादी के आधे प्रतिशत के रूप में हो। जहां पर पिछड़े वर्ग (ए) की आबादी सभाक्षेत्र की कुल आबादी का दो प्रतिशत या अधिक है तो उसमें पिछड़े वर्ग (ए) से संबंधित एक वार्ड पंच के लिए आरक्षित किया गया है।

इसी तरह पंचायत समिति और जिला परिषद में सदस्य के पद पिछड़ा वर्ग (ए) के लिए कुल सीटों के उसी अनुपात में आरक्षित किए गए हैं जो ब्लाक या परिषद की कुल आबादी में पिछड़ा वर्ग (ए) की आबादी के आधे प्रतिशत के रूप में है।

अब ये तैयारियां हैं बाकी

यही वजह रही कि अब पंचायत चुनाव को लेकर फिर से आरक्षण को लेकर ड्रा की प्रक्रिया फिर से शुरू की गई। अब तमाम जिलों में यह प्रक्रिया पूरी हो गई है।

विकास एवं पंचायत विभाग ने मंगलवार को सभी जिला परिषदों और पंचायत समितियों में सदस्यों के लिए आरक्षित वार्डों, सरपंच के लिए आरक्षित ग्राम पंचायतों और पंचों के लिए आरक्षित वार्डों की अधिसूचना जारी कर दी। इसके साथ ही पंच-सरपंचों और जिला परिषद व पंचायत समितियों में चुनाव की तैयारियां अब और तेजी पकड़ेंगी।

अभी विभाग की ओर से वार्डबंदी भी की जानी है। हिसार, गुरुग्राम और सिरसा में वार्डबंदी का कार्य शेष है, जिसे अभी पूरा किया जाना है।

Satbir Singh

Satbir Singh

    Next Story