Movie prime

IAS Arnav Mishra: कहानी उस लड़के की जिसने पहले पास किया UPSC एग्जाम और फिर बन गया SDM

IAS Arnav Mishra: आईआईटी जोधपुर से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद अर्णव ने नौकरी करना शुरू किया लेकिन उनका सपना आईएएस अधिकारी बनने का था। इसलिए उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी।
 
IAS Arnav Mishra

IAS Arnav Mishra Success Story: कहा जाता है कि जब किस्मत और मेहनत एक साथ हो तो जिंदगी पूरी तरह से बदल जाती है। कुछ ऐसा ही हुआ यूपीएससी क्लियर करने वाले अर्णव मिश्रा के साथ। अर्नव ने यूपीएससी और यूपीपीएससी की परीक्षा दी थी। लेकिन जब यूपीएससी का रिजल्ट आया तो अर्णव का नाम लिस्ट से गायब था। हालांकि, उन्होंने उम्मीद नहीं खोई।

फिर यूपीएससी की दूसरी लिस्ट आती है और उनका चयन हो जाता है। यूपीपीसीएस के नतीजे यूपीएससी के नतीजों के ठीक 9 दिन बाद आते हैं। अर्णव को 16वीं रैंक और एसडीएम का पद मिला है। तो इसे भाग्य कहते हैं। अर्णव का यूपीएससी की रिजर्व लिस्ट में 42वीं रैंक के साथ चयन हुआ था।

आईआईटी जोधपुर से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद अर्णव ने नौकरी करना शुरू किया लेकिन उनका सपना आईएएस ऑफिसर बनने का था। इसलिए उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी। अर्णव को एक और फायदा अपनी बड़ी बहन और जीजाजी से मिला। अर्णव की बड़ी बहन आरुषि मिश्रा एक IFS अधिकारी हैं, जबकि अर्णव के बहनोई चर्चित गौड़ एक IAS अधिकारी हैं।

अर्णव के स्कूल टीचर्स का कहना है कि दोनों भाई-बहन पढ़ाई में अच्छे थे और क्लास में हमेशा अच्छे नंबर लाते थे। वहीं अर्णव का कहना है कि इस लक्ष्य को हासिल करना आसान नहीं था लेकिन कड़ी मेहनत और पारिवारिक माहौल ने यह सब संभव कर दिखाया.

अर्णव अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता के अलावा अपनी बड़ी बहन और जीजा को भी देते हैं। क्योंकि उनका मार्गदर्शन उन्हें बहुत मदद करेगा। अर्णव की बहन आरुषि मिश्रा का चयन आईएफएस, भारतीय वन सेवा और उत्तर प्रदेश लोक सेवा के लिए हुआ था। आरुषि के पति चर्चित गौड़ उत्तर प्रदेश कैडर के अधिकारी हैं। आरुषि ने यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में 229वीं रैंक हासिल की थी