मौसम

Haryana Weather: हरियाणा के इन शहरों में अगले 48 घंटे राहत नहीं, भारी बारिश को लेकर मौसम विभाग का अलर्ट

Satbir Singh
23 Sep 2022 8:25 AM GMT
Haryana Weather: हरियाणा के इन शहरों में अगले 48 घंटे राहत नहीं, भारी बारिश को लेकर मौसम विभाग का अलर्ट
x
हरियाणा (Haryana) में मानसून (Monsoon) की विदाई मुसीबत लेकर आई है। भारी बारिश की वजह से लोग बेहाल हो रहे हैं। बारिश की वजह से जगह-जगह जलभराव की स्थिति है। पानीपत कैथल कुरुक्षेत्र यमुनानगर में शुक्रवार अल सुबह से ही बारिश शुरू हो गई।

हरियाणा के पानीपत सहित कई शहरों में पिछले दो दिनों से बारिश हो रही है। शहर में जलभराव की वजह से लोगों के हाल बेहाल हैं। वहीं मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। अभी 48 घंटे तक बारिश होगी। शुक्रवार को भी सुबह से ही बारिश हो रही है।

दो दिन की बारिश से पानीपत जगह-जगह जलभराव की समस्या सामने आ रही। शहर के पाश क्षेत्र जलमग्न हो गए। वीरवार को पानीपत में 27 व इसराना में 55 एमएम बारिश हुई। इसराना में हुई बारिश सबसे ज्यादा है। रातभर से झमाझम बारिश हो रही है। पानीपत के हालात ऐसे खराब हो चुके है कि हर जगह जलभराव की समस्या पैदा हो गई है।

सनौली रोड सबसे ज्यादा परेशानी बन गई है। तापमान में गिरावट दर्ज की गई। अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रहा। जबकि न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहा। नगर निगम दावे किए थे कि शहर में कहीं भी जलभराव नहीं होने देंगे। इसके बावजूद शहर में कई जगहों पर जलभराव की समस्याएं बन गई।

अभी मौसम विभाग के अनुसार अगले दो दिन तक तेज बारिश के आसार बने हुए है। ऐसे में पानीपत के हालात और खराब होने की संभावना है। निगम प्रशासन ने दिल्ली से मंगवाई चार मशीन भी शहर को डूबने से नहीं बचा सकी। सबसे ज्यादा जलभराव की समस्या जीटी रोड व असंध रोड, पुराना इंडस्ट्रियल एरिया, सेक्टर 29 व तहसील कैंप का एरिया पूरी तरह से जलमग्न हो गया है।

स्कूली बच्चों को सबसे ज्यादा हुई परेशानी

तेज बारिश होने के कारण स्कूली बच्चों को सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बस भी समय पर बच्चों को लेने के लिए नहीं पहुंच सकी। जिसके बाद बच्चे घरों में ही रहे।

जीटी रोड पर लगा रहा जाम

बारिश के कारण जीटी रोड पर जलभराव की समस्या रही। जिसके कारण लंबा ट्रैफिक जाम रहा। खादी आश्रम से गोहाना मोड सबसे ज्यादा ट्रैफिक जाम रहा। सुबह से ही लोग जाम में फंसे रहे। ट्रैफिक पुलिस के भी जाम खुलवाने के लिए कड़ी मश्कत करनी पड़ी।

जानिए...कहां हुआ जलभराव

तहसील कैंप : यहां भी सबसे ज्यादा जलभराव की समस्या रही।

कच्चा कैंप : यहां भी सबसे ज्यादा जलभराव की समस्या रही है। जिसके कारण बत्तरा कालोनी व आसपास लोगों को काफी परेशानियां उठानी पड़ी।

सेक्टर 11-12 : शापिंग सेंटर में जलभराव की समस्या पैदा हो गई है। जिसके कारण काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा। गलियों में भी पानी भर गया।

ओल्ड इंडस्ट्रियल एरिया : यहां सबसे ज्यादा जलभराव की समस्याएं सामने आई हैं।

सनौली रोड : बारिश के कारण जलभराव की समस्या पैदा हो गई।

ऊझा रोड : यहां सड़क निर्माण कार्य अधर में लटका हुआ है। जिसके कारण जगह-जगह जलभराव हो रहा है।

गीता कालोनी : शहर का सबसे पाश क्षेत्र है। यहां भी जलभराव की समस्या पैदा हो गई।

किशनपुरा : यहां भी सबसे ज्यादा जलभराव की समस्या रही है। हल्की बूंदाबांदी में ही यहां जलभराव की समस्या पैदा हो जाती है।

क्षेत्र कितनी बारिश हुई

पानीपत 27 एमएम

इसराना 55 एमएम

समालखा 41 एमएम

बापौली 43 एमएम

मतलौडा 30 एमएम

देश भर में बने मौसमी सिस्टम

चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तर पश्चिमी मध्य प्रदेश और दक्षिण पश्चिम उत्तर प्रदेश के आसपास के हिस्सों पर बना हुआ है।

एक ट्रफ रेखा उत्तर-पश्चिम और उससे सटे पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी से लेकर ओडिशा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और पूर्वी राजस्थान होते हुए पश्चिम राजस्थान के मध्य भागों तक फैली हुई है।

पश्चिमी विक्षोभ को मध्य क्षोभमंडल में एक ट्रफ के रूप में देखा जाता है, जो औसत समुद्र तल से 5.8 किमी की ऊंचाई पर लगभग 74 डिग्री पूर्व से 32 डिग्री उत्तर अक्षांश के उत्तर में बना हुआ है।

पिछले 24 घंटों के दौरान देश भर में हुई मौसमी हलचल

पिछले 24 घंटों के दौरान, उत्तर प्रदेश के पश्चिमी हिस्सों, पूर्वी हरियाणा, दिल्ली, उत्तर पश्चिमी राजस्थान में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में मध्यम बारिश के साथ कई स्थानों पर भारी बारिश हुई।

उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई।

असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा के कुछ हिस्सों, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, तेलंगाना, तटीय आंध्र प्रदेश और उत्तरी मध्य महाराष्ट्र में हल्की से मध्यम बारिश हुई।

उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल, तटीय ओडिशा, तटीय कर्नाटक, केरल और कोंकण और गोवा में हल्की बारिश हुई।

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि

अगले 24 घंटों के दौरान, पूर्वोत्तर राजस्थान, दिल्ली के कुछ हिस्सों, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तरी मध्य प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कहीं-कहीं भारी बारिश हो सकती है।

उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।

उत्तराखंड हिमाचल प्रदेश, शेष पूर्वोत्तर भारत, बिहार के कुछ हिस्सों, पूर्वी उत्तर प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, शेष पूर्वी राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश संभव है।

पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र, तटीय कर्नाटक, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और लक्षद्वीप में हल्की बारिश हो सकती है।

Satbir Singh

Satbir Singh

    Next Story